What is Keyword in Hindi? A Comprehensive Guide in 2024

What is Keyword in Hindi, A Beginner's Guide in 2024

मेरे प्यारे सज्जनों, आज हम इस अध्याय के बारे में पढ़ेंगे, कीवर्ड क्या है हिंदी में? इसके अलावा, हम इस ब्लॉग पोस्ट में कीवर्ड की पूरी जानकारी विस्तार से जानेंगे, कीवर्ड क्या है? कीवर्ड के प्रकार, कीवर्ड घनत्व क्या है? कीवर्ड निकटता क्या है? और कीवर्ड कठिनाई क्या है?

कीवर्ड क्या है हिंदी में?

कीवर्ड एक ऐसा खोज इंजन शब्द है जिसका उपयोग करके अपने किसी भी वेबसाइट या वेब पेज को रैंकिंग (Ranking) में लाया सकता हैं।  ये उपयोगकर्ता (user) को उनके सभी प्रशन खोज इंजन के द्वारा पता करने में सहायता करते हैं। इसके अतिरिक्त, यह हमारे पेज के सामग्री (content) की भी व्याख्या करते हैं।

गूगल और एसईओ पेशेवर (SEO Professional) के लिए कीवर्ड महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वे इस बारे में एक उचित विचार देते हैं कि लोग कौन हैं और वे क्या चाहते हैं, व्यवसायों को उनकी आवश्यकताओं को पूरा करने की अनुमति देते हैं।  कीवर्ड एक लक्ष्य भी प्रदान करते हैं जिसके लिए व्यवसाय अपनी सामग्री को लक्षित कर सकते हैं।

कीवर्ड कितने प्रकार के होते हैं?

किसी वेब पेज को ऑप्टिमाइज़ करने के लिए, दो मुख्य प्रकार के कीवर्ड होते हैं:

 1. प्राथमिक कीवर्ड (Primary Keywords)– यह मुख्य कीवर्ड है जो एक वेबपेज पर मौजूद होना चाहिए।  सामग्री के उचित अनुकूलन के लिए, यह कीवर्ड पहले पैराग्राफ, शीर्षकों और उपशीर्षकों में आना चाहिए।  इसे ज्यादा नहीं भरना चाहिए। उदाहरण: विपणन (Marketing), डिजिटल विपणन (Digital Marketing)

2. माध्यमिक कीवर्ड ( Secondary Keywords) – इसे अव्यक्त अर्थपूर्ण कीवर्ड और संबंधित कीवर्ड (Latent Semantic Keyword and Related Keywords) के नाम से भी जाना जाता है।  यह प्राथमिक कीवर्ड का एक रूपांतर है जो स्वाभाविक रूप से ऑन-पेज सामग्री में दिखाई देना चाहिए। उदाहरण: ऑनलाइन विपणन (Online Marketing) , डिजिटल मार्केटिंग वेबसाइट (Digital Marketing  Website)

आदर्श रूप से, एसईओ शब्दावली में उपयोग किए जाने वाले अन्य प्रकार के कीवर्ड का उल्लेख करने की अनुशंसा की जाती है।  वे शॉर्ट-टेल कीवर्ड्स, लॉन्ग-टेल कीवर्ड्स और जियो-टारगेटिंग कीवर्ड्स हैं।

शॉर्ट-टेल कीवर्ड्स: वह कीवर्ड्स जिनमें तीन शब्द या उससे कम शब्द के पाये जाते हैं, उन्ह कीवर्ड्स को शॉर्ट-टेल कीवर्ड्स के नाम से जाना जाता है। ( जैसे कि: विपणन (Marketing), डिजिटल विपणन (Digital Marketing) डिजिटल विपणन कंपनी (Digital Marketing Company), डिजिटल विपणन पाठ्यक्रम (Digital Marketing Course)

लोंग-टेल कीवर्ड्स (Long Tail Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जो तीन शब्द से ज्यादा के होते हैं, उन्हें लोंग-टेल कीवर्ड्स(Long Tail Keywords) कहते है। ( उदाहरण: भारत में डिजिटल मार्केटिंग कंपनी (Digital Marketing Company in India), यमुना विहार में डिजिटल मार्केटिंग कोर्स (Digital Marketing Course in Yamuna Vihar)

फ्रेश कीवर्ड्स (Fresh Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जो प्रचलित (Trending) में है, उन्हें फ्रेश कीवर्ड्स (Fresh Keywords) कहते हैं। अथार्त ऐसे कीवर्ड्स जो गूगल पर हालफिलहाल (Recently) ज्यादा खोज (Search) किये जा रहे है, उन्हें फ्रेश कीवर्ड्स कहा जाता है।

सदाबहार कीवर्ड्स (Evergreen Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जो गूगल पर हमेशा( सदाबहार) खोजे जाते हैं, उन्हें सदाबहार कीवर्ड (Evergreen Keywords) कहते हैं। (उदाहरण: ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएँ? (How to earn money online), वेबसाइट पर ट्रैफ़िक कैसे बढ़ाएँ (how to grow traffic on website)

उत्पाद परिभाषित कीवर्ड्स (Product Defining Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जो उत्पाद (Product) को उल्लेख (explain) करते हैं, उन्हें उत्पाद परिभाषित कीवर्ड्स (Product Defining Keywords) कहते हैं। (उदाहरण: नाइक के जूते (Nike Shoes), एडिडास के जुते (Adidas Shoes)

ग्राहक परिभाषित कीवर्ड (Customer Defining Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जिनसे यह पता चलता है कि यह product किस customer के लिए और किस costumer के लिए नही, उन्हें ग्राहक परिभाषित कीवर्ड (Customer Defining Keywords) कहते हैं। (उदाहरण: लड़की के लिए  एडिडास के जूते (Adidas shoes for girl), लड़को के लिए नाइक के जूते (Nike Shoes for boy)

भू-लक्ष्यीकरण कीवर्ड (Geo Targeting Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जिनके साथ जगह (Location) को लक्ष्य (Target) किया जाता है, उन्हें भू-लक्ष्यीकरण कीवर्ड कहते हैं। (उदाहरण: यमुना विहार में डिजिटल मार्केटिंग संस्थान (Digital Marketing Institute in Yamuna Vihar), नोएडा में डिजिटल मार्केटिंग कंपनी (Digital Marketing Company in Noida).

अव्यक्त अर्थ अनुक्रमण कीवर्ड्स (LSI or Latent Semantic Indexing Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जो प्राथमिक कीवर्ड  के संबंधित (Relevant or Related) होते हैं, उन्हें एलएसआई कीवर्ड कहते हैं। अथार्थ वो कीवर्ड जो गूगल उपयोगकर्ता के सवाल (query) करने पर खोज इंजन परिणाम पृष्ठ (Search Rngine Results Page) में संबंधित खोजें (Related Searches) के नाम से दिखाई देते, उन्हें अव्यक्त अर्थ अनुक्रमण कीवर्ड्स कहते हैं।

इरादा लक्ष्यीकरण कीवर्ड (Intent Targeting Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जिनसे उपयोगकर्ता (User) के इरादे (Intention) का पता चलता है कि क्या वह कोई जानकारी चाहता है? या कुछ खरीदना चाहता है।, उन्हें ही इरादा लक्ष्यीकरण कीवर्ड कहते हैं। इसकी तीन श्रेणी (Category) होती है:-

(a) सूचना इरादा लक्ष्यीकरण कीवर्ड (Information Intent Targeting Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जिनसे उपयोगकर्ता को किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त होती है।, उन्हें सूचना इरादा लक्ष्यीकरण कीवर्ड कहते हैं। उदाहरण: अच्छे जूते (Best Shoes)

(b) वाणिज्यिक उद्देश्य लक्ष्यीकरण कीवर्ड (Commercial Intent Targeting Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जिनसे यह पता चलता है कि उपयोगकर्ता कुछ खरीदना चाहता है।, उन्हें वाणिज्यिक उद्देश्य लक्ष्यीकरण कीवर्ड कहते हैं। उदाहरण: जूते खरीदें (Buy Shoes)

(c) लेन-देन संबंधी इरादे लक्ष्यीकरण कीवर्ड (Transactional Intent Targeting Keywords): ऐसे कीवर्ड्स जिनसे लेन-देन (Transaction) के दौरान उपयोगकर्ता  को यह पता चलता है कि कही किसी उत्पाद (Product) पर कोई बिक्री (Sale) या प्रस्ताव (Offer) तो नही चल रहा है, उन्ह कीवर्ड्स को लेन-देन संबंधी इरादे लक्ष्यीकरण कीवर्ड कहते हैं।

कीवर्ड घनत्व क्या है? (What is Keyword Density in SEO in Hindi)

किसी भी वेबसाइट या वेबपेज के सामग्री (Content) पर किसी भी कीवर्ड्स की कुल प्रतिशत (Total Percentage or Total Calculation ) को कीवर्ड घनत्व कहते हैं। अथार्थ कोई भी कीवर्ड जो वेबसाइट या वेबपेज के पूरे सामग्री पर जितनी बार दोहराया (Repeat) हुआ है उसके कुल प्रतिशत को कीवर्ड घनत्व कहते हैं।

कीवर्ड निकटता क्या है? (What is Keyword Proximity in Hindi)

किसी भी वेबसाइट या वेबपेज पर किसी भी कीवर्ड के बीच हम जो गैप बनाते (Gap Create or Distance Create) हैं, उसे ही कीवर्ड प्रॉक्सिमिटी कहते है।  यह बताता है कि किसी भी वेबसाइट या वेबपेज के कीवर्ड्स एक दूसरे के कितने करीब हैं।

कीवर्ड कठिनाई क्या है? (What is Keyword Difficulty in Hindi)

कीवर्ड कठिनाई  या प्रतियोगिता (Competition) को परिभाषित करती है कि गूगल के ऑर्गेनिक खोज परिणामों में किसी कीवर्ड को रैंक करना कितना कठिन है।  कीवर्ड की कठिनाई सामग्री की गुणवत्ता, डोमेन प्राधिकरण और पेज प्राधिकरण जैसे कई कारकों पर निर्भर करती है।

निष्कर्ष (Conclusion): 

हमने इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से कीवर्ड्स से सम्बंधित सभी जानकारी देने का प्रयास किया है, आशा है कि आपको हमारी दी गई जानकारी पसन्द आयेंगी। इसी प्रकार एसईओ क्या है? What is SEO, और डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) से सम्बंधित और अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े AkgTechInfo Instagram Profile को फॉलो करके हमसे संपर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *